“वर्तमान परिवेश में शांति की शक्ति” | राजयोगिनी ब्र. कु. गोपी दीदी जी, लंदन